How to use a Multimeter (part 2) मल्टीमीटर का उपयोग कैसे करें

How to use a Multimeter (part 2) मल्टीमीटर का उपयोग कैसे करें


How to use a Multimeter

How to use a Multimeter (part 2) मल्टीमीटर का उपयोग कैसे करें

दोस्तों आज हम मल्टीमीटर ( Multimeter ) पार्ट 2 स्टार्ट कर रहे हैं।

जिस का नाम बदलकर How to use a Multimeter रख दिया गया है।

दोस्तों आज के इस पोस्ट में हम मल्टीमीटर ( Multimeter ) को उपयोग में लेने के तरीके के बारे में विस्तार से जानेंगे,

और यह भी जानेंगे, कि मल्टीमीटर ( Multimeter ) के क्या-क्या फंक्शन होते हैं। तो आइए शुरू करते हैं :-

Multimeter part 1 ( how to use multimeter )

multimeter all function (part 3 in hindi)

digital multimeter function part 4 in (hindi)

मल्टीमीटर ( Multimeter ) में जानने योग्य बातें :-

How to use a Multimeter
How to use a Multimeter

दोस्तों आज के इस डिजिटल युग में मल्टीमीटर  ( Multimeter ) की अपनी एक अलग पहचान है। वैसे तो मल्टीमीटर कई दशकों से चला आ रहा है,

पर आज के इस दौर के मल्टीमीटर ( Multimeter ) काफी आधुनिक हो गए हैं,

तथा इन मल्टीमीटर ( Multimeter ) के कार्य करने की क्षमता बहुत ही अधिक हो गई है।

तथा इन मल्टीमीटर ( Multimeter ) के कार्य करने की क्षमता बहुत ही अधिक हो गई है।

दोस्तों एनालॉग मल्टीमीटर  ( Multimeter ) को कुछ दशकों पहले बहुत ही ज्यादा उपयोग में लिया जाता था।

पर यह वैल्यू सही सही नहीं बता पाती थी, इसलिए इसकी जगह डिजिटल मल्टीमीटर ने ले ली।

दोस्तों इस मल्टीमीटर की खास बात यह है, कि यह बिल्कुल सटीक वैल्यू बता देती है,

इसलिए आज के इस पोस्ट में हम डिजिटल मल्टीमीटर के बारे में ही जानेंगे, और इसको किस प्रकार उपयोग में लिया जाता है, इसके बारे में भी विस्तार से जानेंगे।

Multimeter टेस्टंग से पहले आप को इन बातो का पता होना चाहिए :-

दोस्तों मल्टीमीटर  ( Multimeter ) का उपयोग सभी प्रकार की इलेक्ट्रिक उपकरणों की टेस्टिंग के लिए उपयोग में लिया जाता है,

पर टेस्टिंग से पहले आपको कुछ बातों का पता होना जरूरी है, किसी भी सर्किट को चेक करने से पहले,

आपको सबसे पहले अपने मल्टीमीटर ( Multimeter ) को हाई रेंज में सेट करना होता है, अर्थात आप मान लीजिए कि,

आपको किसी कंपोनेंट का वोल्टेज चेक करना है, तो सबसे पहले आप को यह पता होना चाहिए,

कि आप जो कॉम्पोनेंट चेक कर रहे हैं, उसमें AC करंट आ रहा है या DC करंट।

और यह भी पता होना चाहिए, कि जब आप चेक कर रहे हो, तब पावर चालू है, या बंद।

और यह भी पता होना चाहिए, कि आपका मल्टीमीटर उस वोल्टेज को सहन करने में सक्षम है, या नहीं।

इसलिए मैंने मल्टीमीटर पार्ट 1 में कहा था, कि मल्टीमीटर की क्षमता अलग अलग होती है।

दोस्तों अगर आपने मल्टीमीटर पार्ट 1 को नहीं पढ़ा है, तो पहले उस पोस्ट को जरूर पढ़ ले।

जिससे कि आपको हमारे इस पोस्ट को पढ़ने में तथा समझने में काफी आसानी होगी।


How to use a Multimeter मल्टीमीटर से किसी भी कंपोनेंट को चेक करना :-

दोस्तों मल्टीमीटर से किसी भी कंपोनेंट को चेक करने से पहले, आपको तीन बातों को जानना जरूरी है।

इन तीन बातों को अर्थात इन तीन चीजों के बारे में जानने के बाद ही, आप किसी भी तरह के कंपोनेंट को चेक कर सकते हैं।

यह 3 निम्न है :-

(1) शॉर्ट
(2) वैल्यू
(3) ओपन

दोस्तों अब हम इन 3 बातों के बारे में एक – एक कर के जानेंगे, और उनको विस्तार से समझेंगे।

(1) शॉर्ट

How to use a Multimeter
How to use a Multimeter

दोस्तों शॉर्ट शब्द को समझना आपके लिए ज्यादा मुश्किल नहीं होगा। जैसा कि आपको इसके नाम से ही पता चल गया है, के यह क्या होता है।

तो आइए अब हम यह जानते हैं, कि मल्टीमीटर में शॉर्ट का क्या मतलब होता है।

जैसा कि आप जानते होंगे, कि जब कोई बिजली के दो तार आपस में जुड़ जाते हैं, तो शार्ट हो जाता है, और ब्लास्ट हो जाता है।

उसी प्रकार मल्टीमीटर में जब हम, मल्टीमीटर को कंटिन्यूटी मोड पर सेट करते हैं, और जब हम मल्टीमीटर के दो तार आपस में टच करते हैं,

तो मल्टीमीटर से बीप की आवाज आती है, इसका मतलब यह है, कि वे दो तार आपस में पूरी तरह से जुड़ गए हैं, या जुड़े हुए हैं।

इस बीप की आवाज को ही मल्टीमीटर को यूज में लेते समय शॉर्ट कहा जाता है।

यह तकनीक तब काम आती है, जब आपके किसी भी इलेक्ट्रॉनिक कंपोनेंट को बिना करंट के चेक करना हो।

अगर उस कंपोनेंट में करंट आ रहा हो, या उस कंपोनेंट का रेजिस्टेंस चेक करना हो, तो वैल्यू काम में आता है।

(2) वैल्यू
How to use a Multimeter
How to use a Multimeter

आप अब तक यह तो जान ही गए होंगे, कि शार्ट क्या होता है। अब हम वैल्यू के बारे में समझेंगे।

दोस्तों जब भी किसी कंपोनेंट को चेक करते समय मल्टीमीटर के डिस्प्ले में, कोई भी रीडिंग दिखाई देती है,

तो इसका मतलब यह है, कि मल्टीमीटर आपको उस कंपोनेंट का वैल्यू बता रही है,

या करंट का वैल्यू बता रही है, और सही वैल्यू पता करने के लिए आपको सबसे पहले यह जानना आवश्यक है,

कि आप उस कंपोनेंट का वोल्टेज चेक कर रहे हैं, या आप उस कंपोनेंट का कोई रजिस्टेंस चेक कर रहे हैं,

या आपको AC वॉल्ट चेक कर रहे है, या DC वोल्ट।

आपको इन सब बातों का पहले पता होना आवश्यक है।

इन सब बातों के बारे में, मैं आपको आगे की पोस्ट में विस्तार से बता दूंगा, के AC वोल्ट क्या होता है,

और DC वोल्ट क्या होता है। AC वोल्ट को किस तरह से हम चेक कर सकते हैं,

और डीसी वॉल्ट को कैसे चेक कर सकते हैं। इनके बारे में मैं अलग से पोस्ट बना दूंगा।

(3) ओपन
How to use a Multimeter
How to use a Multimeter

दोस्तों अब तक आपको शार्ट के बारे में पता चल गया है, और वैल्यू क्या होती है, उसके बारे में भी पता चल गया है।

अब हम ओपन के बारे में समझेंगे।

दोस्तों जब भी आप किसी सर्किट को चेक करते हैं,

तो आप जब मल्टीमीटर के दोनों तारों को किसी सर्किट में टच करते हैं,

तो आपको या तो बीप की आवाज सुनाई देती है, या तो कोई ना कोई रीडिंग दिखाई देती है।

पर दोस्तों जब आपको किसी बीप की आवाज सुनाई ना दे, और कोई भी रीडिंग दिखाई ना दे,

तो आप समझ जाइए, कि उस कंपोनेंट में कोई भी गतिविधि नहीं है, या कोई भी वोल्टेज नहीं आ रहा है।

मल्टीमीटर के इस पोजीशन को ओपन कहा जाता है। अगर मैं सीधा सीधा कहूं,

तो जब मल्टीमीटर कोई भी हरकत ना करें, तो उसको ओपन कहा जाता है।

note :-

दोस्तों आज के इस पोस्ट में बस इतना ही। अब हम आगे की पोस्ट में मल्टीमीटर के बारे में और ज्यादा जानेंगे।

दोस्तों मल्टीमीटर के बारे में एक ही पोस्ट में सब बता पाना मुश्किल है,

और अगर मैंने एक ही पोस्ट में सब बता दिया, तो भी आप पूरी तरह से मल्टीमीटर को समझ नहीं पाएंगे।

इसलिए मैंने मल्टीमीटर को कई चरणों में विभाजित कर दिया है,

link :-

Multimeter part 1 ( how to use multimeter )

multimeter all function (part 3 in hindi)

digital multimeter function part 4 in (hindi)

4 Replies to “How to use a Multimeter (part 2) मल्टीमीटर का उपयोग कैसे करें”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »
%d bloggers like this: